September 24, 2017

दिल्ली में अकेला महसूस करता था – मनोहर पर्रिकर

दिल्ली में वो काफी “अकेला” महसूस करते थे क्योंकि वो दोस्त नहीं बना पाते थे। पर्रिकर ने कहा, “ये पहचानना मुश्किल होता था कि कौन हथियारों का डीलर है या एजेंट है।” पर्रिकर ने कहा कि वो दिल्ली से भागे नहीं बल्कि गृह प्रदेश में उनकी वापसी “संयोगवश” हुई। पर्रिकर ने कहा कि रक्षा मंत्री होने के ये जिम्मेदारी आ जाती है। पर्रिकर ने कहा, “…मंत्रालय ऐसा था कि मैं दोस्त नहीं बना सकता था।

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि वो देश के रक्षा मंत्री रहने के दौरान पता नहीं चलता कि कौन हथियारों का डीलर है या कौन दलाल है। इसीलिए दूर रहना ही बेहतर। इसीलिए मुझे अकेलापन महसूस होता था।” पर्रिकर एक मीडिया पुरस्कार समारोह में बोल रहे थे।

 

 

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *