September 24, 2017

BSNL बनाएगी एक अलग कंपनी

अब भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) का टॉवर कारोबार अलग कंपनी संभालेगी। नई कंपनी पर बीएसएनएल का पूर्ण स्वामित्व रहेगा। संचार मंत्रालय के इस आशय के प्रस्ताव को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। यह कदम बीएसएनएल के विशालकाय टॉवर इंफ्रास्ट्रक्चर को राजस्व के नए स्रोत के रूप में इस्तेमाल करने की मंशा से उठाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इसका फैसला हुआ।

फिलहाल देश में कुल मिलाकर 4,42,000 मोबाइल टॉवर हैं। इनमें से 66,000 से ज्यादा टावर बीएसएनएल के हैं। अलग कंपनी पूरी तरह से टॉवर कारोबार को संभालेगी। बीएसएनएल पूरी तरह संचार सेवाओं पर अपना ध्यान केंद्रित कर सकेगी।

बीएसएनएल का टॉवर नेटवर्क पूरे देश में फैला हुआ है। इनमें दूरदराज के ऐसे इलाके शामिल हैं, जहां निजी कंपनियों की पहुंच नहीं है। ऐसे में निजी कंपनियों को अपने टॉवर किराये पर उपलब्ध कराकर बीएसएनएल अच्छी कमाई कर सकती है। नई कंपनी यही काम करेगी।

About The Author

Related posts