October 24, 2017

Top Right Head Ad
Top Right Head Ad
Top Right Head Ad

हनीप्रीत ने खोले कई राज, पुलिस पंजाब से राजस्‍थान तक जांच में जुटी

Janmat News

Janmat News

सूत्रों के अनुसार, हनीप्रीत पुलिस के सामने टूटने लगी है, लेकिन पुलिस का कोई अधिकारी इसकी पुष्टि नहीं कर रहा है। हनीप्रीत पर आरोप है कि उसने डेरा समर्थकों को उकसाने के लिए कुछ भडक़ाऊ वीडियो सोशल मीडिया में वायरल किए थे। इस वीडियो के जरिए डेरा के कई सेवादारों ने धमकी दी थी कि यदि गुरमीत राम रहीम को सजा दी गई, तो हिंसा फैलाई जाएगी।

पुलिस के मुताबिक, हनीप्रीत के लैपटॉप में पंचकूला हिंसा से संबंधित गाइड मैप और डेरा प्रमुख के नज़दीकियों की तैनाती का ब्योरा है। हनीप्रीत का मोबाइल फोन और लैपटॉप कहां छिपा कर रखा गया है, इसको लेकर भी हनीप्रीत और उसकी साथी सुखदीप कौर पुलिस को सही जवाब नहीं दे रही हैं। वह कभी कहती हैं कि फोन पंजाब के तरनतारन में है, तो कभी उत्तर प्रदेश के बिजनौर में बताती है और कभी बठिंडा में सुखदीप कौर की बुआ के पास। इसी के बाद पुलिस बठिंडा के गांव पहुंची। पुलिस टीम तरनतारन में भी पहले छापा मार चुकी है और संभव है कि वहां फिर जांच की सकती है।

हनीप्रीत द्वारा कई राज से पर्दा हटाने की जानकारी है। इसके बाद पुलिस उसे और सुखदीप कौर को लेकर विभिन्‍न जगहों पर छापे मार रही है। पंचकूला की अदालत द्वारा दोबारा तीन दिन का रिमांड दिए जाने के बाद पुलिस ने हनीप्रीत पर घेरा और कस दिया है।

पंचकूला दंगों की जांच कर रही एसआइटी हनीप्रीत को लेकर बुधवार को पहले पंजाब के बठिंडा गई और फिर उसे राजस्‍थान ले कर पहुंची। पुलिस दिन में बठिंडा के गांव जंगीराना पहुंची आैर वहां जांच के बाद राजस्‍थान गई। पु‍लिस ने राजस्‍थान के श्रीगंगानगर जिले के गांव लादूवाला जांच की और देर रात गुरमीत राम रहीम के गांव गुरुसर मोडिया में डेरा के आश्रम पर छापा मारा।

Janmat News

एसआइटी बठिंडा के बाद हनीप्रीत और सुखदीप कौर को लेकर राजस्‍थान के श्रीगंगानगर जिले के गांव लादूवाला व डेरा सच्चा सौदा के आश्रम गुरुसर मोडिया पहुंची। आठ गाडिय़ों के काफिले के साथ पहुंची एसआइटी ने यहां कई घंटे तक उन स्थानों पर जानकारी जुटाई है, जहां फरारी के दौरान हनीप्रीत छिपती रही। पुलिस ने उसे संरक्षण देने वालों की जानकारी भी जुटाई।

पुलिस की एक टीम पहले श्रीगंगानगर के गांव लादूवाला की ढाणी पहुंची। टीम ने यहां साढ़े तीन बजे दस्तक दी और वहां से एक ढाणी पहुंची। पुलिस ढाणी में करीब तीन घंटे रही। बताया जाता है कि इसी ढाणी में हनीप्रीत दो दिन तक छिपकर रही थी। यहां ढाणी वासियों से पूछताछ की गई और फिर नक्शे भी बनाए गए। इसके बाद टीम शाम को गुरुसर मोडिया पहुंची। गुरुसर मोडिया में हरियाणा पुलिस की गाडिय़ों के अंदर पहुंचते ही डेरे के सुरक्षा प्रहरियों ने बाहर के गेट बंद कर दिए। यहां देर शाम तक पूछताछ की जा रही थी।

हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत की तलाश में जिस दिन गुरुसर मोडिया में छापा मारा था, उससे ठीक दो घंटे पहले हनीप्रीत के वहां से निकलने की जानकारी सामने आई है। सूत्र बताते हैं कि हनीप्रीत यहां से लादूवाला गांव पहुंची और किसी डेरा प्रेमी के यहां ठहरी। दो दिन बाद यहां से वह हनुमानगढ़ के लिए निकल गई। पुलिस अब जांच की सभी कडि़यों को जोड़ रही है।

उधर सिरसा में डेरा की चेयरपर्सन विपसना के स्वास्थ्य की जांच के लिए बुधवार को तीन सदस्यीय चिकित्सकों की टीम पुलिस के साथ डेरा सच्चा सौदा पहुंची। टीम में छाती रोग विशेषज्ञ सतेंद्र सिंह, हड्डी रोग विशेषज्ञ पवन कुमार व स्त्री रोग विशेषज्ञ सोनिया शामिल रही। डाक्टरी परीक्षण में विपसना को अस्थमा की शिकायत मिली है। सूत्रों के अनुसार, विपसना डेरे के अस्पताल में दाखिल है। बता दें कि पंचकूला पुलिस की जांच में शामिल न होने पर खराब स्वास्थ्य का हवाला दिया गया था।

हनीप्रीत, आदित्य, पवन, दिलावर, महेंद्र, सुरेंद्र धीमान, हनीप्रीत के निजी सचिव राकेश कुमार अरोड़ा, गुरमीत राम रहीम के ड्राइवर इकबाल सिंह की पत्नी सुखदीप कौर, चमकौर सिंह, गोविंद राम, प्रदीप गोयल, दान सिंह और खरैती लाल के नाम पंचकूला हिंसा के आरोपियों में शामिल हैं।

About The Author

Related posts